23-05-2018
केन्द्र की कटौती के बावजूद मध्यप्रदेश ने बढ़ाया कर राजस्व - मुख्यमंत्री श्री चौहान         दीपक भारद्वाज मर्डर केस मामले में नितेश और बलजीत से पूछताछ         एडव‌र्ड्स सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी मुरीद         कोर्ट फीस की बढ़ोतरी उचित-हाईकोर्ट         शिवराज से चर्चा के बाद जूडा की हड़ताल खत्म        
राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय
भारत के खिलाफ आतंक फैलाना बंद नहीं करेगी आईएसआई
17-01-2017
नई दिल्ली । पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के शीर्ष पर चाहे कोई भी रहे, लेकिन वह भारत के खिलाफ आतंक फैलाना बंद नहीं करेगी। न ही भारत को लेकर उसकी पॉलिसी में कोई बदलाव आएगा। क्योंकि वह भारत को कश्मीर मुद्दे पर अपना सबसे बड़ा दुश्मन मानता है और पाकिस्तान के नेताओं के लिए भी यह बड़ा मुद्दा है। इस बात का जिक्र जर्मन के शोधकर्ता और जानेमाने पाॅलिटिकल साइंटिस्ट और इतिहासकार हेन किसलिंग ने अपनी एक किताब में किया है। उन्होंने करीब 13 वर्ष पाकिस्तान में बिताए हैं और वहां के इंटेलिजेंस और मिलिट्री पर शोध किया है।ऑब्जरवर रिसर्च फाउंडेशन के तहत आयोजित एक कार्यक्रम में उन्होंने अपनी एक किताब का भी विमोचन किया। उन्होंने कहा कि पाक की खुफिया एजेंसी हर हाल में कश्मीर में अलगाववादियों को समर्थन जारी रखेगी। इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि उसके शीर्ष पर कौन है। वह आतंकिेयों के टैरर कैंप को भी बादस्तूर जारी रखेगी। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी पर लिखी किताब Faith, Unity, Discipline: The ISI of Pakistan' में उन्होंने कई अन्य बातों का भी जिक्र किया है। इस किताब का जर्मनी में वर्ष 2011 में पहली बार प्रकाशन किया गया था। अब इसके इंडियन एडिशन को लॉन्च किया गया है। इस किताब में उन्होंने कहा है कि आईएसआई के इस प्रॉक्सी वार में कभी तेजी तो कभी मंदी जरूर आ सकती है, लेकिन मोटे तौर पर यह जारी रहेगा। कश्मीर को लेकर न तो पाकिस्तान की सोच और न ही उसकी रणनीति में कोई परिवर्तन आ सकता है। कश्मीर समेत अफगानिस्तान में आईएसआई पूरी तरह से फोकस करती है। उन्होंने कहा कि उनके विचारों में कश्मीर समस्या का समाधान एक तय दायरे के अंदर रहकर सुलझ सकता है। अपनी इस किताब में किसलिंग ने लिखा है कि आईएसआई की सबसे बड़ी कमजोरी उसकी भू-राजनीतिक स्थिति पर ढीली पकड़ रही है। यही वजह है कि वह हमेशा से ही कहती आई है कि 9/11 किया गया वहां का अपना एक षड़यंत्र था और पूरी तरह से आंतरिक था। हालांकि किसलिंग उनके इस दावे को पूरी तरह से खारिज करते हुए कहते हैं कि यह संभव नहीं है कि आईएसआई के अधिकारियों को इस हमले की जानकारी पहले से न हो। उन्हें यह भी पता था कि सबसे बड़ा आतंकी सरगना उनके ही देश में एबटाबाद में छिपा हुआ बैठा है। इसके अलावा वह मुंबई हमले समेत रेमंड डेविस मामले के बारे में भी पूूरी जानकारी रखते थे।
Bookmark and Share
10/03/2017 पाकिस्तान में हिंदू महिला की हत्या
10/03/2017 चीन में ट्रंप ट्रेडमार्क वाली 38 वस्तुओं की बिक्री अनुमति
10/03/2017 भारत प्रशासित कश्मीर शब्द पर भारत की आपत्ति
10/03/2017 सैफुल्ला के पिता पर पूरे देश को नाज - राजनाथ
10/03/2017 साम्प्रदायिक ताकतों को दूर रखने के लिए कोई भी कदम - नरेश अग्रवाल
10/03/2017 भाजपा की बहुमत से सरकार बनने का अनुमान
27/01/2017 भारत शक्तिशाली देशों में छठे नंबर पर
27/01/2017 पाकिस्तानी असेंबली में सदस्यों के बीच जमकर मारपीट
27/01/2017 नाराज हुए मैक्सिको के राष्ट्रपति,रद की अमेरिकी यात्रा
23/01/2017 निर्भया के गैंगरेप : याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई
23/01/2017 दूरसंचार विभाग को ट्राइ का आधारयुक्त इकेवाइसी का सुझाव
23/01/2017 जाकिर नाइक - याचिका पर हाई कोर्ट में सुनवाई होगी
23/01/2017 डोनाल्ड ट्रंप और अमेरिकी मीडिया में जंग तेज
23/01/2017 पहले दस गुना ज्यादा होती थी बारिश
23/01/2017 पोप काम के आधार पर ही बनाएंगे ट्रंप पर राय
22/01/2017 जबरदस्‍त भूकंप के झटके से हिला पापुआ न्‍यू गिनी
22/01/2017 पाकिस्तान को उम्मीद जल्द रिलीज होंगी बॉलीवुड फिल्में
22/01/2017 हीराखंड एक्स. हादसे में 39 की मौत
22/01/2017 आतंकियों से मुठभेड़ में असम राइफल्स के दो जवान शहीद
22/01/2017 खाताधारकों को तीन वर्ष के लिए दो लाख रुपये का बीमा
22/01/2017 कांग्रेस और सपा सीट दोस्ती तोड़ने को तैयार
22/01/2017 तीन तलाक पर पर्सनल लॉ बोर्ड के बोल
17/01/2017 अखिलेश की हुई साइकिल
17/01/2017 सभी अर्ध सैनिक बलों को नोटिस भेजा
17/01/2017 भारत के खिलाफ आतंक फैलाना बंद नहीं करेगी आईएसआई
Back | Next
- विज्ञापन -

Copyright 2018, TodayMP.com . All Rights Reserved.

Visits: 3621069