22-09-2018
केन्द्र की कटौती के बावजूद मध्यप्रदेश ने बढ़ाया कर राजस्व - मुख्यमंत्री श्री चौहान         दीपक भारद्वाज मर्डर केस मामले में नितेश और बलजीत से पूछताछ         एडव‌र्ड्स सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी मुरीद         कोर्ट फीस की बढ़ोतरी उचित-हाईकोर्ट         शिवराज से चर्चा के बाद जूडा की हड़ताल खत्म        
प्रादेशिक खबरें
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय श्री पटवा की पार्थिव देह पंच-तत्व में विलीन
30-12-2016
भोपाल : पूर्व मुख्यमंत्री स्व. श्री सुन्दरलाल पटवा की आज नीमच जिले में उनके गृह ग्राम कुकड़ेश्वर में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अत्येष्टि की गई। मुख्यमंत्री श्री चौहान और अन्य वरिष्ठ राजनेताओं ने स्व. श्री पटवा के पार्थिव शरीर पर पुष्प-चक्र अर्पित किया और उनकी अर्थी को कांधा दिया। स्वर्गीय श्री पटवा के भतीजे एवं संस्कृति राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री सुरेन्द्र पटवा ने मुखाग्नि दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान स्वर्गीय श्री पटवा के निज निवास से निकली शवयात्रा में शुरू से अंत तक रहे। पूर्व मुख्यमंत्री स्व. श्री पटवा की पार्थिव देह आज सुबह एयर एम्बुलेंस से भोपाल से नीमच लाई गई। यहाँ से उनके गृह नगर कुकड़ेश्वर लाया गया। कुकड़ेश्वर में परिजनों और स्थानीय आमजन के अन्तिम दर्शनार्थ पार्थिव देह को उनके निज निवास फुलवारी तथा पटवा मांगलिक भवन में रखा गया। इसके बाद दोपहर में पूरे राजकीय सम्मान एवं वैदिक मंत्रोचार के साथ अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के बाद हुई शोकसभा में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्व. श्री पटवा प्रदेश के विकास पुरूष थे। उनके निधन से एक युग का अंत हुआ। वे दलगत राजनीति से परे थे। वह शालीनता और शिष्टाचार की राजनीति के प्रतीक थे। वे कर्मठ राजनेता थे और उन्हें सबको साथ लेकर चलने में महारत हासिल थी। उनके निधन से प्रदेश ने एक कर्मठ और समर्पित नेता खो दिया है। उनका निधन प्रदेश के लिए एक ऐसी क्षति है, जिसकी पूर्ति अब कभी नहीं हो सकेगी। उन्होंने शोक संतप्त परिवार को इस गहन दुःख को सहन करने की शक्ति देने तथा दिवंगत आत्मा की शांति के लिये ईश्वर से प्रार्थना की। शोकसभा में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने स्वर्गीय श्री पटवा को छत्तीसगढ़ की जनता की ओर से श्रृद्वा-सुमन अर्पित करते हुए कहा कि स्व. श्री पटवा का छत्तीसगढ़ से हमेशा करीबी नाता रहा। अविभाजित मध्यप्रदेश के दौर में छत्तीसगढ़ से उनकी हजारों यादें जुड़ी हैं। वे संगठन के कुशल शिल्पी रहे। केन्द्रीय जल-संसाधन मंत्री सुश्री उमा भारती ने कहा कि स्वर्गीय श्री पटवा के निधन से प्रदेश को अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने गृहस्थ होते हुए भी हमेशा त्याग की राजनीति की। वे निर्भीक व्यक्तित्व के थे। शोकसभा में पूर्व उप प्रधानमंत्री श्री लालकृष्ण आडवानी ने कहा कि स्वर्गीय श्री पटवा ने वर्षों तक मध्यप्रदेश को कुशलता से संभाला और प्रदेश के विकास को नई दिशा दी। ऐसा विराट व्यक्तित्व आज हमारे बीच नहीं है। उनकी कमी हमेशा ही खलती रहेगी। अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व उप प्रधानमंत्री श्री लालकृष्ण आडवानी, केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वेंकैया नायडू, ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, जल-संसाधन मंत्री सुश्री उमा भारती, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत, केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, प्रदेश मंत्री-मण्डल के सदस्य श्री जयंत मलैया, श्री गौरीशंकर शेजवार, डॉ. नरोत्तम मिश्रा, श्रीमती अर्चना चिटनिस, श्री पारस जैन, श्री गौरीशंकर बिसेन, श्री अंतरसिंह आर्य, श्री लालसिंह आर्य, श्री दीपक जोशी सहित बड़ी संख्या में देश और प्रदेश के राजनेता, नीमच एवं मंदसौर जिले के सभी जन-प्रतिनिधि सहित क्षेत्रवासियों ने अंत्येष्टि में शामिल होकर स्वर्गीय श्री पटवा की पार्थिव देह के अंतिम दर्शन किये और उन्हें श्रद्वा-सुमन अर्पित कर भावभीनी श्रद्वांजलि दी। कार्यक्रम में पूर्व मंत्री श्री नरेन्द्र नाहटा, अ.भा. संगठन महामंत्री श्री रामलाल, आर.एस.एस. के सह सर कार्यवाह श्री सुरेश सोनी सहित अन्य वरिष्ठ राजनेता एवं मंत्रीगण ने भी संवेदनाएँ व्यक्त की। स्व. श्री पटवा की अंत्येष्टि में पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी, सांसद श्री नंद कुमार सिंह चौहान, प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत, श्री अरविंद मेनन, श्री माखन सिंह चौहान, श्री कैलाश विजयवर्गीय, सांसद श्री सुधीर गुप्ता और श्री रोड़मल नागर, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष श्री चैतन्य काश्यप, छत्तीसगढ़ के मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल और श्री राजेश मूणत, श्री धर्मलाल कौशिक, हरियाणा के कृषि मंत्री श्री ओमप्रकाश धनगर, पूर्व सांसद सुश्री मीनाक्षी नटराजन, विधायक श्री कैलाश चावला, श्री ओमप्रकाश सकलेचा, श्री दिलीपसिंह परिहार, श्री जगदीश देवड़ा, श्री यशपाल सिंह सिसोदिया, श्री चन्दरसिंह सिसोदिया, डॉ. मोहन यादव, श्री सुदर्शन गुप्ता, जिला पंचायत अध्यक्ष नीमच श्रीमती अवंतिका जाट, पूर्व मंत्री श्री विक्रम वर्मा शामिल हुए।
Bookmark and Share
10/03/2017 मुख्यमंत्री ने नरसिंहपुर जिले को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया
10/03/2017 ताप्ती नदी को संरक्षित और प्रदूषणमुक्त करने का अभियान चलेगा
10/03/2017 जनपद स्तर पर महिला संरक्षण केन्द्र स्थापित होंगे
10/03/2017 जनपद स्तर पर महिला संरक्षण केन्द्र स्थापित होंगे
10/03/2017 हर जिले में लगेंगे महिला रोजगार, स्व-रोजगार मेले
10/03/2017 नर्मदा स्वच्छता यज्ञ में हर व्यक्ति की आहुति जरूरी
27/01/2017 तूफान में दबे चार और जवानों के शव बरामद
27/01/2017 कांग्रेस बोली- BJP से रिश्ता तोड़ें उद्धव
27/01/2017 संपति का 75 फीसदी हिस्सा दान करना चाहती हैं इंद्राणी ?
27/01/2017 मुख्यमंत्री निवास में ध्वजारोहण
27/01/2017 समृद्ध संस्कारित प्रदेश के निर्माण में करें सहयोग
27/01/2017 जनसंपर्क भवन में आयुक्त श्री राजन ने किया ध्वजारोहण
27/01/2017 बालाघाट में आजादी के बाद पहली बार फहराया महिला ने तिरंगा
27/01/2017 मंत्री श्री बिसेन ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर की ढाई लाख रूपये का पुरस्कार देने की घोषणा
27/01/2017 जिलों में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया 68वाँ गणतंत्र दिवस
23/01/2017 नदियों का भविष्य सँवारें और माँ नर्मदा को बचाएँ
23/01/2017 नेतृत्व विकास शिविर 23 जनवरी को
23/01/2017 प्रदेश में शराब की बुराई से निपटने के लिए चलाया जाएगा अभियान
23/01/2017 छोटे ग्रामों-कस्बों से निकलती हैं खेल प्रतिभाएँ
23/01/2017 नि:शुल्क चिकित्सा शिविर का व्यापक प्रचार-प्रसार हो
23/01/2017 देश की मजबूती के लिये समाज की एकजुटता जरूरी
22/01/2017 अगले बजट सत्र में आवासहीनों को जमीन देने का कानून बनेगा
22/01/2017 मुख्यमंत्री ने किया शहीद भीमा नायक स्मारक का लोकार्पण
22/01/2017 28 जनवरी को सभी प्राथमिक-माध्यमिक स्कूलों में मिल बाँचे मध्यप्रदेश कार्यक्रम
22/01/2017 हँसते-हँसाते यूहीं गुनगुनाते चल देंगे चार कदम
Back | Next
- विज्ञापन -

Copyright 2018, TodayMP.com . All Rights Reserved.

Visits: 4660071