19-10-2018
केन्द्र की कटौती के बावजूद मध्यप्रदेश ने बढ़ाया कर राजस्व - मुख्यमंत्री श्री चौहान         दीपक भारद्वाज मर्डर केस मामले में नितेश और बलजीत से पूछताछ         एडव‌र्ड्स सचिन तेंदुलकर की बल्लेबाजी मुरीद         कोर्ट फीस की बढ़ोतरी उचित-हाईकोर्ट         शिवराज से चर्चा के बाद जूडा की हड़ताल खत्म        
खेल
....और वह अलग दिख रहे थे
19-12-2016
नई दिल्ली।लोकेश राहुल बहुत अलग और अच्छे खिलाड़ी हैं, लेकिन वह इन खूबियों को लगातार नहीं दिखा पाते। मैंने उन्हें करियर की शुरुआत में भी देखा है और वह अलग दिख रहे थे। उस समय असंयमित, अधीर और साहसी दिखते थे। उस समय मुझे यह नहीं समझ आ रहा था कि वह ज्यादा साहसी हैं या दु:साहसी के ज्यादा करीब हैं। लेकिन समय के साथ उन्होंने साबित कर दिया है कि वह दु:साहसी नहीं, बल्कि साहसी हैं। इसके बाद मैंने उन्हें एक के बाद एक शतक बनाते देखा। इस बीच वह सस्ते में भी पवेलियन लौटे। लेकिन हर समय वह क्लासिक खिलाड़ी दिखे और मैं उन पर कोई अंगुली नहीं उठा सका। मुझे पता था कि उनमें कुछ तो खास है और टी-20 खेलते हुए मुझे महसूस हुआ कि वह सिर्फ अलग नहीं हैं, बल्कि अगर वह अपना ध्यान रखते हैं तो बहुत खास खिलाड़ी साबित हो सकते हैं। वह बेहद आसानी से शॉट लगाते हैं। ऐसा लगता ही नहीं कि वह ताकत लगा रहे हैं, वह बहुत सहजता से गेंद को बाउंड्री के पार पहुंचा देते हैं। मुझे लगता है कि अमेरिका में वेस्टइंडीज के खिलाफ उनका शतक बहुत ही शानदार था। उस समय खेल के अलग-अलग प्रारूपों के प्रति इस युवा खिलाड़ी की समझ दिखाई दी थी। अब यहां पांचवें टेस्ट में उन्होंने फिर से अपनी योग्यता दिखाई। उन्होंने एक पारंपरिक टेस्ट बल्लेबाज की तरह रक्षात्मक खेल दिखाया, लेकिन साथ ही अपर कट जैसे आकर्षक शॉट भी समय-समय पर लगाए। आधुनिक समय के क्रिकेटरों की सोच ऐसी ही है। वे किसी गेंदबाज के खिलाफ संभल कर खेलते हैं, लेकिन साथ ही शॉट खेलकर वापसी करने के मौके तलाशते रहते हैं। और इसी वजह से आप उन्हें देखना चाहते हैं। क्रिकेट को इन जैसे खिलाडिय़ों की जरूरत है। आपको लग सकता है कि मैं कुछ ज्यादा जल्दी ही इनके बारे में काफी कुछ कह रहा हूं। हो सकता है कि आप ठीक भी हों, लेकिन मैं यही चाहूंगा कि आप गलत साबित हों। आप ऐसा सोचने पर अंगुली नहीं उठा सकते (हो सकता है कि मुझे दूसरे राहुल से पूछना चाहिए था!), लेकिन मुझे लगता है कि लोकेश राहुल की किस्मत में काफी अच्छी पारियां लिखी हैं। लेकिन उसके लिए उन्हें शरीर का ध्यान रखना होगा। वह चोट की वजह से ज्यादा समय तक बाहर नहीं बैठ सकते। उन्हें इसके लिए बहुत ज्यादा दूर देखने की जरूरत नहीं है। अगर वह कोहली जैसे फिट और अनुशासित होते हैं, तो राहुल के लिए बहुत अच्छा होगा!
Bookmark and Share
10/03/2017 अंतिम टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम का एलान
10/03/2017 पीवी सिंधू ने धौनी को भी पीछे छोड़ दिया
10/03/2017 बीसीसीआइ का दिलचस्प कदम
27/01/2017 वनडे रैंकिंग में फिसले विराट
27/01/2017 भारतीय कप्तान के नाम दर्ज हो गया एक शर्मनाक रिकॉर्ड
27/01/2017 विराट ने उठाया ये अहम कदम
23/01/2017 भारतीय टीम को 5 रन से हार का सामना करना पड़ा
23/01/2017 गेंदबाजों की कब्र न बन जाए वनडे क्रिकेट
23/01/2017 धौनी और युवराज का पुराने रंग में लौटना, विश्वास सही साबित
17/01/2017 लगने लगा कि वो मैदान से बाहर चले जाएं
17/01/2017 विकेटकीपर पीटर नेविल का जबड़ा टूट गया
17/01/2017 बधाई संदेश देकर फंस गए मंत्री जी
13/01/2017 दो बल्लेबाज इतिहास रचने में जुटे हैं
13/01/2017 अब विराट से बढ़ जाएंगी आपकी उम्मीदें
13/01/2017 कमाल का है ये दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी
09/01/2017 खुश हुए धौनी के फैन्स
09/01/2017 सहवाग पर हो रही है पैसों की बारिश
09/01/2017 भारतीय पिचों पर रंग जमाने को बेकरार है ये आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी
06/01/2017 विराट कोहली ने छेड़छाड़ की घटना को निंदनीय बताया
06/01/2017 सहवाग के निशाने पर आए लड़कियों के कपड़ों पर सवाल उठाने वाले लोग
06/01/2017 विराट कोहली ने धौनी से कही ये बातें
05/01/2017 सौरव गांगुली ने टीम को लड़ना सिखाया तो धौनी ने जीतना
05/01/2017 धौनी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही कप्तानी छोड़ दी
05/01/2017 राहुल जौहरी को बीसीसीआइ की कमान
04/01/2017 कोलकाता नाइट राइडर्स ने बालाजी को गेंदबाजी कोच बनाया
Back | Next
- विज्ञापन -

Copyright 2018, TodayMP.com . All Rights Reserved.

Visits: 4899982